Chakrawat se sarvadhik vinash kis kshetra mein hota hai

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Chakrawat se sarvadhik vinash kis kshetra mein hota hai :- दोस्तों आप लोग सुनामी चक्रवात का नाम तो अवश्य सुने होंगे मगर क्या आपको मालूम है कि चक्रवात के आने से सर्वाधिक किस क्षेत्र में विनाश होता है और चक्रवात क्या होता है और चक्रवात क्यों आता है और चक्रवात के कितने प्रकार होते हैं।

अगर आपको इन सब के बारे में नहीं मालूम है तो आप हमारे इस लेख के साथ अंत तक बने रहिए। क्योंकि इस लेख में हम चक्रवात से जुड़ी हर एक जानकारी प्राप्त करने वाले हैं तो चलिए शुरू करते हैं इस लेख को बिना देरी किए हुए।


चक्रवात से सर्वाधिकारिक विनाश किस क्षेत्र में होता है?

चक्रवात से सर्वाधिकारिक विनाश तटीय क्षेत्र में होता है। क्योंकि ज्यादातर चक्रवात समुद्र से उठकर समुद्र के तट के किनारे जाता है और वहां के जितने भी बस्ती होते हैं उन्हें अपने प्रभाव से ग्रसित करता है।

जब भी चक्रवात आता है तो अपने साथ बहुत सारे हवाएं लेते आता है और चक्रवात के दौरान बहुत भारी भरकम बारिश भी होती है। इसमें कई कई लोगों की जाने तक चली जाती है और कई जगह पर प्राकृतिक सौंदर्य पूरी तरह से खराब हो जाता है इसके आने से बहुत से लोग परेशानी में पड़ जाते हैं।

ऐसा बात नहीं है कि चक्रवात सिर्फ तटीय क्षेत्रों को ही नुकसान पहुंचाता है। बल्कि  चक्रवात जब अपने भीषण रूप को धारण करता है, तो बहुत सारे शहर भी तबाह हो जाते हैं और उनके नाम उसमें कई सारे लोग भी आ जाते हैं और अपने जीवन को खो देते हैं।


चक्रवात क्या है ?

चक्रवात एक प्रकार का प्राकृतिक आपदा होता है जो खास तौर पर हवाओं के दबाव से उत्पन्न होता है। चक्रवात का आकार अलग अलग होता है लेकिन मुख्य रूप से इसके दो आकार ही देखने को मिलते हैं। जिस में से पहले है V आकार और दूसरा है अंडे का आकार, चक्रवात को अंग्रेजी भाषा में cyclone और hurricane के नाम से जाना जाता है ।

जब कहीं भी चक्रवात पैदा होता है तो वहां पर मौजूद हवाओं की स्पीड 80 किलोमीटर प्रति घंटे से लेकर के 300 किलोमीटर प्रति घंटे तक होती है। चक्रवात जिस स्थान से उत्पन्न होती है उस स्थान को चक्रवात की आंख कहा जाता है।

चक्रवात जिस स्थान से उत्पन्न होता है। उस स्थान की केंद्र बिंदु की तापमान ज्यादा होती है, क्योंकि हवाओं का दाब कम होने की वजह से अगल बगल की हवा है। उस जगह को पूर्ति करने के लिए आती है जिस वजह से हवाओं की गति तेज हो जाती है और वह एक बवंडर का रूप ले लेती है और उसे ही चक्रवात कहा जाता है।


चक्रवात क्यो आता है ?

दोस्तों हमने ऊपर के टॉपिक में जाना कि चक्रवात आने से सर्वाधिक बिनाश किस क्षेत्र में होते हैं और चक्रवात क्या होता है अब हम इस टॉपिक के माध्यम से जानने वाले हैं कि आखिर चक्रवात क्यों आते हैं तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए।

दोस्तों आपको इतना तो मालूम होगा कि पृथ्वी के ऊपर हवाये मौजूद है और यह हवाएं कई लेयर में होती है। यह हमारे समुद्र के ऊपर भी मौजूद होती हैं और यह चक्रवात ज्यादातर हवाओं के दाब की वजह से आता है क्योंकि जब समुद्र का पानी गर्म होता है तब समुद्र के ऊपरी हवाएं भी गर्म होती है और जब हवाएं गर्म होती है तो अब यह हल्की हो जाती है।

और यहां दब बहुत कम लगता है हल्की हवा हो जाने के कारण हवा धीरे-धीरे ऊपर उठने लगती है और हवा पूरी तरह से उठ जाती है। और जिस जगह से हवा उठती है उस जगह पर हवा की कमी हो जाती है और हवा की कमी होने के कारण वहां का दबाव बिल्कुल कम हो जाता है।

और वहां खाली जगह हो जाता है उस खाली जगह को भरने के लिए अगल बगल की सभी ठंडी हवाएं तेजी की ओर आगे बढ़ती है। और आपको इतना तो मालूम होगा कि पृथ्वी अपने अक्ष पर लड्डू की तरह नाचती रहती है । और जब हवाये उस कम दब वाले जगह को भरने के लिए आती है।

तब वह सीधे ना आ कर के एक प्रकार का    घुमावदार रूप लेती है। और यही मुख्य कारण होता है कि वहां पर एक बवंडर का रूप उत्पन्न होता है। और वही बवंडर बड़ा पैमाने पर एक चक्रवात का रूप ले लेता है और इसके वजह से काफी क्षति होती है।


चक्रवात के प्रकार

चक्रवात मुख्य रूप से 6 प्रकार के होते हैं और इन्हें इनके आकार और इनके आने के तरीके और इनके क्षेत्र के ऊपर इन्हें विभाजित किया जाता है ।। हमने सभी 6 प्रकारों के चक्रवात का नाम नीचे में स्टेप बाई स्टेप करके लिखा है तो आप उन्हें ध्यान से पढ़ें और समझें।

1) ध्रुवीय चक्रवात

2) ध्रुवीय कम

3) आतिरिक्त ऊष्ण कटिबंधीय चक्रवात

4) अन्त: ऊष्ण कटिबंधीय

5) उष्णकटिबंधीय

6) मेसोस्कैल


FAQ,s

Q1. हरिकेन क्या होता है?

Ans. हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि फ्लोरिडा के तट से उठने वाला तूफान हरिकेन कहलाता है। यह भी चक्रवात की श्रेणी में आता है।

Q2. भारत का कौन सा समुद्र तट चक्रवात से प्रभावित रहता है?

Ans. भारत में बहुत सारे ऐसे राज्य और क्षेत्र हैं जो चक्रवात से प्रभावित रहते हैं। भारत के मुख्य दो राज्य ऐसे हैं जहां पर चक्रवात आते रहते हैं जिन में से पहला क्षेत्र का नाम उड़ीसा है और दूसरा क्षेत्र का नाम  तमिलनाडु है।
Q3. चक्रवात का दूसरा नाम क्या है?
Ans. चक्रवात का दूसरा नाम बहुत सारा है इसे अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग नाम से जाना जाता है। जैसे कि :- हरिकेन, टाइफून, साइक्लोनिक स्टोर्म, ट्रोपिकल स्टोर्म, ट्रोपिकल डिप्रेशन, और केवल साइक्लोन।
Q4. चक्रवात की उत्पत्ति किस प्रकार होती है?
Ans. हमने आपको ऊपर में भी बताया कि चक्रवात की उत्पत्ति हवाओं के दबाव से होती है।
Q5. चक्रवात का पवन वेग कितना होता है ?
Ans. चक्रवात में पवन का वेग 20 से लेकर 30 मील प्रति घण्टे तक का होता है

( Conclusion, निष्कर्ष )

उम्मीद करता हूं, कि आप को मेरा यह लेख बेहद पसंद आया होगा और आप इस लेख के मदद से चक्रवात से सर्वाधिकारिक विनाश किस क्षेत्र में होता है, के बारे में जानकारी प्राप्त कर चुके होंगे। हमने इस लेख में सरल से सरल भाषा का उपयोग करके आपको चक्रवात, से जुड़ी हर एक जानकारी के बारे में बताने की कोशिश की है।

Also Read :-

Leave a Comment